Saturday, September 10, 2011

LIFE

मेरी १० वर्षीया बेटी मेघा की रचना जो कि उसके विध्यालय की इयर बुक में छपी है, इसे पढ़कर मैं आश्चर्यचकित हूँ कि एक 10 साल की  बच्ची भी ऐसा सोच सकती है। मुझे गर्व है अपनी बेटी पर।

MEGHA
What is life?
Nothing but a contract 
Which we sign and make it fine,
Life is not like a dream
Or water in a stream 
Life is like a ship 
In the middle of a sea
Hope and ambitions are the radar
That makes it tension free
The death is a treat that every man has to eat.

15 comments:

  1. बहुत बहुत बधाई ||

    आप जब भी नई पोस्ट लाते हैं |
    नया उत्साह जगाते हैं ||

    ReplyDelete
  2. Very touching... very nice meaningful creation....

    ReplyDelete
  3. आख़िर बेटी किसकी है !बहुत बहुत बधाई मेघा को ऐसे ही पिता का नाम रोशन करो .........

    ReplyDelete
  4. लिखते रहो हमेशा सुन्दर --
    मेघा तुमको बड़ी बधाई |
    जीवन की परिभाषा बढ़िया --
    मस्त-मस्त तुमने समझाई |||

    ReplyDelete
  5. ओह! बहुत खूबसूरत चिंतन है आपकी बिटिया का.
    मेधा तुम्हें बहुत बहुत बधाई.
    अपनी सुन्दर मेधा से हमेशा 'शुभ शुभ'
    लिखती रहिएगा.
    May, God bless you.

    ReplyDelete
  6. वाह ..इतनी सुन्दर और यथार्थ रचना के लिए बिटिया को बहुत बहुत बधाई

    ReplyDelete
  7. मेघा बहुत होनहारा है...वाह!!

    उसे अनेक आशीष एवं शुभकामनाएँ.

    ReplyDelete
  8. awesome.........wakai megha ki soch bahut paripakv hai abhi se use prerit karte rahiye likhne ke liye.......meri taraf se use dher sa pyar aur aashirwad.

    ReplyDelete
  9. she has great thoughts god bless her.

    ReplyDelete
  10. सच में ...बहुत ही अच्‍छा लिखा है ... शुभकामनाओं के साथ बधाई

    ReplyDelete
  11. मेघा को इतनी सुंदर कविता लिखने पर बहुत बहुत बधाई! धन्यवाद आपका कि आपने हमें पढवाई !

    ReplyDelete
  12. अभिव्यक्ति बेहद सराहनीय

    ReplyDelete
  13. Nilesh ji,
    bahut khoobsoorat prastuti,badhai
    मेरी १०० वीं पोस्ट , पर आप सादर आमंत्रित हैं

    **************

    ब्लॉग पर यह मेरी १००वीं प्रविष्टि है / अच्छा या बुरा , पहला शतक ! आपकी टिप्पणियों ने मेरा लगातार मार्गदर्शन तथा उत्साहवर्धन किया है /अपनी अब तक की " काव्य यात्रा " पर आपसे बेबाक प्रतिक्रिया की अपेक्षा करता हूँ / यदि मेरे प्रयास में कोई त्रुटियाँ हैं,तो उनसे भी अवश्य अवगत कराएं , आपका हर फैसला शिरोधार्य होगा . साभार - एस . एन . शुक्ल

    ReplyDelete

NILESH MATHUR

Search This Blog

www.hamarivani.com रफ़्तार